क्या आईवीएफ इंजेक्शन दर्दनाक होता है?

क्या आईवीएफ इंजेक्शन दर्दनाक होता है, is if injection painful

Is IVF Injection Painful?

अगर आप लंबे समय से माता-पिता बनने की कोशिश करने के बावजूद सफल नहीं हो पा रहे हैं तो ऐसे में आपको तुरंत किसी अच्छे डॉक्टर से बात करने की जरूरत है। डॉक्टर के पास ट्रीटमेंट के कई विकल्प होते हैं और वो आपकी जांच करने के बाद ही आपको सही विकल्प चुनने की सलाह देते हैं। आज मेडिकल वर्ल्ड ने काफी तरक्की कर ली है और इसने हमारे सामने आईवीएफ का विकल्प भी पेश किया है। आईवीएफ ट्रीटमेंट IVF Treatment आज के समय में अधिकतर महिलाओं के द्वारा अपनाया जाता है। इसका सक्सेस Success रेट सबसे ज्यादा होता है लेकिन इसमें महिलाओं को थोड़ी सी दिक्कतों का सामना भी करना पड़ता है। तो चलिए जानते हैं इस ट्रीटमेंट से जुड़ी परेशानियों के बारे में:

शरीर में सूजन (Body swelling)

आईवीएफ ट्रीटमेंट IVF Treatment में महिलाओं को कई सारे इंजेक्शन लगवाने पड़ते हैं जिसकी वजह से उन्हें सूजन और ओवरी हाइपरस्टिमुलेशन Ovarian hyperstimulation की समस्या हो सकती है। कुछ ऐसे मामले भी सामने आए हैं जिनमें महिला को दो या फिर तीन बच्चे हुए हैं।

एचसीजी इंजेक्शन के साइड इफैक्ट्स (HCG injection side effects)

आईवीएफ ट्रीटमेंट IVF Treatment में एचसीजी इंजेक्शन HCG Injection दिए जाते हैं जिसकी वजह से महिलाओं में चिड़चिड़ापन, आंखों से धुंधला दिखाई देना, ब्रेस्ट को छूने पर दर्द, सिर दर्द, आदि जैसी दिक्कतें देखने को मिलती हैं।

पेट में समस्या (Stomach problem)

जो महिलाएं आईवीएफ ट्रीटमेंट का विकल्प चुनती हैं उन्हें लूज़ मोशन या फिर कॉन्स्टिपेशन की दिक्कतें हो सकती हैं। यही कारण है कि जब एक महिला इस ट्रीटमेंट को चुनती है तो डॉक्टर उन्हें काफी ज्यादा मात्रा में पानी पीने और फाइबर वाली चीजें खाने की हिदायत देते हैं ताकि उनका पाचन ठीक रहे।

इंजेक्शन से दर्द (Pain from injections)

आईवीएफ ट्रीटमेंट में महिलाओं को फॉलिकल स्टिमुलेशन Follicle Stimulation एवं ओवुलेशन Ovulation को नियंत्रित रखने के लिए हर दिन एक इंजेक्शन लगवाना पड़ता है। कितनी बार इंजेक्शन लगवाना है और उस इंजेक्शन में कितनी दवा होनी चाहिए यह महिला की सेहत पर निर्भर करता है। इसके साथ ही ट्रीटमेंट के दौरान हार्मोन Harmone का स्तर जांचने के लिए ब्लड टेस्ट blood test भी किए जाते हैं। इन सभी प्रक्रियाओं में महिलाओं को थोड़ा बहुत दर्द होना लाज़मी है।

महिलाएं रहती हैं स्ट्रेसफुल (Women are stressed)

जब महिला आईवीएफ ट्रीटमेंट ले रही होती है तो वह काफी तनाव में रहती हैं। हार्मोन Harmone की वजह से महिलाएं काफी इमोशनल महसूस करती हैं। कई महिलाओं का कहना है कि आईवीएफ IVF का ट्रीटमेंट लेने पर उन्हें इसके रिजल्ट, साइड इफेक्ट्स, अपने कैरियर आदि को लेकर काफी टेंशन रहती है जिसकी वजह से वे अपने काम पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे पाती हैं या फिर वह जल्दी ही चीजें भूल जाती है।

आईवीएफ के बाद बरतें ये सावधानियां (Take these precautions after IVF)

इसमें कोई संदेह नहीं कि आईवीएफ ट्रीटमेंट IVF Treatment के बाद इसके सफल होने की संभावना बहुत ज्यादा होती है लेकिन उसके लिए एक महिला को कई सावधानियां रखने की जरूरत होती है ताकि एक स्वस्थ बच्चा हो सके और महिला को भी बाद में किसी भी तरह की परेशानी ना हो। तो चलिए आगे हम इन्हीं सावधानियों के बारे में चर्चा करते हैं:

संभोग से बचें (Abstain from Intercourse)

भ्रूण प्रत्यारोपण के बाद दंपति को एक दूसरे के साथ संभोग नहीं करना चाहिए। दूसरे शब्दों में उन्हें एक दूसरे से दूरी बनाकर रखने की हिदायत दी जाती है। संभोग की वजह से महिला में वजाइनल इन्फेक्शन Vaginal Infection होने का खतरा होता है जिसकी वजह से इस प्रक्रिया के सक्सेस रेट पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है।

खुश रहें (Be happy)

अधिकतर डॉक्टरों के द्वारा यह सलाह दी जाती है कि अगर महिला आईवीएफ ट्रीटमेंट करवा रही है तो उन्हें खुश रहना चाहिए। महिला को किसी भी तरह के तनाव से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

ज्यादा आराम या काम ना करें (Don’t rest or work too much)

अगर कोई महिला नौकरी करती है तो वह इस प्रक्रिया के बाद भी अपना काम जारी रख सकती है लेकिन उन्हें ज्यादा शारीरिक एवं मानसिक कष्ट ना देने की हिदायत दी जाती है। इसके अलावा उन्हें टू व्हीलर चलाने से बचना चाहिए एवं अपनी गाड़ी को खराब गड्ढों में से आराम से निकालना चाहिए। महिलाओं को भारी सामान उठाने से भी बचना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से भ्रूण को नुकसान पहुंच सकता है। वहीं दूसरी ओर महिलाओं को बहुत ज्यादा आराम करने से भी मना किया जाता है।

दो हफ्ते तक न नहाएँ (don’t shower for two weeks)

इस प्रोसेस के शुरू के दो हफ्ते तक डॉक्टर महिला को नहाने से मना करते हैं। ऐसा करने से प्रत्यारोपण प्रक्रिया पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है जिसकी वजह से प्रत्यारोपित अंडा अपनी जगह से हिल सकता है। आमतौर पर डॉक्टर ऐसी स्थिति में महिलाओं को शावर बाथ लेने के लिए कहते हैं।

आईवीएफ ट्रीटमेंट के लिए क्रिस्टा आईवीएफ Crysta IVF सबसे तेजी से बढ़ने वाली एक विश्वसनीय फर्टिलिटी चेन Trusted fertility chain है। यहां पर कई तरह के इनफर्टिलिटी ट्रीटमेंट Infertility Treatment किए जाते हैं जिनकी मदद से एक कपल अपने परिवार को आगे बढ़ा पाता है। यहां की उन्नत लैब, अनुभवी डॉक्टर्स की बड़ी संख्या, और उचित कीमत इस सेंटर को सर्वश्रेष्ठ बनाती हैं। हेल्थ केयर सेंटर में 50 से अधिक मेडिकल प्रोफेशनल्स हैं जिनमें से अधिकतर को 20 साल से भी ऊपर का तजुर्बा है जो उनके सक्सेस रेट को काफी बड़ा देता है।