क्या दालचीनी का सेवन महिलाओं में प्रजनन क्षमता में सुधार करता है?

क्या दालचीनी का सेवन महिलाओं में प्रजनन क्षमता में सुधार करता है does cinnamon improve fertility in women

Does Cinnamon Improve Fertility in Women?

जब एक कपल बेबी प्लान कर रहा होता है तो वह गर्भधारण में सहायता करने वाली हर चीज को आज़माता है। ऐसी कई खाने की चीजें हैं जिनसे फर्टिलिटी रेट काफी बढ़ जाता है, इसलिए विशेषज्ञ भी इन्हें खाने की सलाह देते हैं। हालांकि कई चिकित्सा पद्धति लोगों के लिए उपलब्ध हैं जिन्हें वो कभी भी अपना सकते हैं लेकिन हॉस्पिटल में जाने से पहले अगर इन चीजों को खाने से आपको फायदा होता है तो आपको सबसे पहले इन्हीं चीजों का सेवन करना चाहिए। ऐसे में आप मेडिकल ट्रीटमेंट लेने के बाद किसी भी तरह के साइड इफेक्ट से दूर रह पाते हैं। दालचीनी ऐसे ही कुछ खाद्य पदार्थों में से एक है जो एक महिला के अंदर फर्टिलिटी रेट को बढ़ाने में काफी फायदेमंद साबित होती है।

दालचीनी का प्रजनन क्षमता पर असर (Effect of Cinnamon on fertility)

दालचीनी न केवल महिलाओं में बल्कि पुरुषों के लिए भी फायदेमंद होती है। इसलिए विशेषज्ञ दालचीनी को कई अलग-अलग तरीकों से महिलाओं और पुरुषों को लेने की सलाह देते हैं। आइए अब जानने की कोशिश करते हैं कि दालचीनी किस तरह से प्रजनन क्षमता पर सकारात्मक प्रभाव डालती है:

पुरुष (Male):- दरअसल दालचीनी एक गरम मसाला है जो रक्त के प्रवाह को बेहतर करने में सहायता करती है और इससे पुरुष के अंदर शुक्राणु की संख्या में इजाफा होता है। अच्छा स्पर्म काउंट एवं स्पर्म की गतिशीलता एक महिला को गर्भधारण करने में सहायक होते हैं।

महिला (female):- अनियमित मासिक धर्म चक्र एवं पीसीओएस यानी कि पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम महिलाओं के अंदर इनफर्टिलिटी के सामान्य कारणों में से एक है। दालचीनी पीसीओएस और अनियमित मासिक धर्म चक्र में काफी सहायक सिद्ध होती है। मासिक धर्म चक्र के नियमित होने से एक महिला की गर्भधारण की संभावना काफी हद तक बढ़ जाती है।

कैसे करें दालचीनी का इस्तेमाल (How to use Cinnamon)

अगर आप भी अपनी प्रजनन क्षमता को बेहतर करने के लिए दालचीनी का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके कुछ तरीके निम्नलिखित हैं:

  • नाश्ते में दालचीनी का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे, कटे हुए फल, दही, ओट्स, आदि।
  • आप इसे चाय या कॉफी में मिलाकर पी सकते हैं
  • दालचीनी को एक सप्लीमेंट की तरह भी लिया जा सकता है।
  • दालचीनी की दैनिक खुराक

सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम एवं टाइप 2 डायबिटीज से जूझ रही महिलाओं को एक दिन में तीन कैप्सूल लेने चाहिए। अगर ये महिलाएं चूर्ण लेती हैं तो एक दिन में एक चम्मच लिया जा सकता है। लेकिन आपको ऐसा करने से पहले अपने डॉक्टर से जांच करवा लेनी चाहिए।

कितने समय तक करना चाहिए सेवन (For how long should it be consumed)

अगर आप दालचीनी की मदद से इनफर्टिलिटी का इलाज करना चाहती हैं तो आप 3 महीने तक प्रतिदिन लगभग 1500 मिलीग्राम दालचीनी ले सकती हैं। लेकिन दालचीनी का सेवन शुरू करने से पहले आपको अपनी इनफर्टिलिटी के कारण जानने के लिए अपने डॉक्टर के पास जाकर अपनी जांच करवानी चाहिए। अगर आपके डॉक्टर आपको इसका कारण बताते हैं और उसके बाद दालचीनी के सेवन की सलाह देते हैं तो आप उनसे परामर्श लेकर इसका सेवन कर सकते हैं। आप अलग-अलग तरीकों से दालचीनी ले सकते हैं। आप हर सुबह अपने नाश्ते पर दालचीनी के पाउडर को छिड़क कर खा सकते हैं या फिर दालचीनी को शहद में मिलाकर भी इसका सेवन कर सकते हैं। दालचीनी को दूध में मिलाकर लेने से भी प्रजनन क्षमता में काफी फायदा होता है।

तरीके और सावधानियां (Methods and Precautions)

अगर आप अपनी क्षमता में सुधार करना चाहते हैं तो आपको दालचीनी को लेते समय कुछ बातों का ध्यान रखने की जरूरत है, जो कि इस प्रकार है:

  • दालचीनी हल्के रक्त को पतला करती है। अगर आप पहले से ही इसके लिए कोई दवाई ले रहे हैं तो ऐसे में दालचीनी न लें
  • अगर आप गर्भवती हैं या फिर आप एक शिशु को स्तनपान कराती हैं तो आपको दालचीनी का सेवन नहीं करना चाहिए
  • दालचीनी को गोंद, पुदीना या फिर कैंडी के साथ नहीं लेना चाहिए क्योंकि आपके ऐसा करने से
  • आपके शरीर में सूजन हो सकती है और मुंह में गले के नीचे तक छाले भी हो सकते हैं
  • अगर आपको अल्सर है तो आपको दालचीनी से दूर रहना चाहिए
  • अगर आप अपने इंसुलिन प्रतिरोध को कम करना चाहते हैं तो दालचीनी लेने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर बात करें
  • अगर आप ज्यादा मात्रा में दालचीनी लेते हैं तो यह आपके पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकती है। यही कारण है कि अगर आप दालचीनी ले रहे हैं तो आप पहले अपने विशेषज्ञ से बार बात जरूर करें।
  • अगर आप दालचीनी का लंबे समय तक सेवन करते हैं तो इससे खून का थक्का जम जाने की संभावना होती है। इसके अलावा गुर्दे और जिगर को भी नुकसान पहुंच सकता है।
  • जिन लोगों को लिवर, किडनी या फिर दिल की बीमारी होती है उन्हें खाने में दालचीनी को शामिल करने की सलाह दी जाती है।

इनफर्टिलिटी के कई कारण होते हैं और दालचीनी इन सभी का एकमात्र इलाज नहीं है। ऐसे में आपको इनफर्टिलिटी का इलाज करने के लिए डॉक्टर से सलाह लेने के लिए कहा जाता है। क्रिस्टा आईवीएफ इसमें आपकी मदद कर सकता है। इस सेंटर में पर्याप्त संख्या में डॉक्टर हैं जो कि मशीनों का उपयोग करके आपको सर्वोत्तम इलाज देने की कोशिश करते हैं। यहां के डॉक्टर सबसे पहले आपसे आपकी परेशानी पूछते हैं, आपकी सारी बात सुनते हैं, उसके बाद ही आप का इलाज शुरू करते हैं, जिससे आपको सर्वोत्तम इलाज मिल सके।